मीडिया संस्थानों में लाखों में फीस ली जाती है, लेकिन वापस उतना नहीं मिलता:...

विकास कुमार वर्तमान में आज-तक में बतौर मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट काम कर रहें हैं. इससे पहले उन्होंने Catch न्यूज़ और तहलका के साथ काम किया...

The Challenge was to Face Nepotism in Media: Prerna Lidhoo – Fortune Magazine

Prerna Lidhoo, alumni of IP College - Delhi, is Principal Correspondent at Fortune Magazine. In this exclusive interview with acadman.in she has talked about her early...

पत्रकारिता मेरे लिए सामाजिक कार्य है: मोहम्मद अनस

पत्रकारिता, समाजसेवा, और राजनीती - मोहम्मद अनस का acadman.in के आलोक आनंद से लम्बी बातचीत. अनस, सबसे पहले आप अपने शुरुआती दिनों के बारे में थोडा बताएं? मेरी पारिवारिक...

People Need Careful-Original Reporting, Not Breaking News: Raghu Karnad

Raghu Karnad is a journalist and writer. He is the author of Farthest Field: An Indian Story of the Second World War. In this interview with acadman.in he talked...

सबसे बड़ा चैलेंज रहा न्यूजरूम के भीतर की पैट्रिआर्की से लड़ना: मनीषा पाण्डेय

औरत, फेमिनिज्म और लड़के: News18 की फीचर एडिटर मनीषा पांडेय का  acadman.in से लंबी बातचीत. This interview is taken by @alokanand  To suggest an interview, feedbacks, comments, work...

I Was Asked To Kill That Story Which Triggered Me to Leave Journalism: Himanshi...

Himanshi Matta, alumni of IIMC, is currently working at Oxfam India as a media coordinator. In this exclusive interview with acadman.in she talks about her early...

Barefoot Media: A Workshop on Community Journalism @Media Action and Research Group and Sambhaavnaa...

About The Barefoot Media Workshop offers a complete guide to become a barefoot journalist or a community communicator. When we see some social, political or...

Ritu Kapur, The Quint Founder: The Day We Stop Experimenting is The Day We...

Ritu Kapur is the co-founder of The Quint and Board Member at Oxford University’s prestigious Reuters Institute Of Journalism. In this exclusive interview with acadman.in she...

मीडिया संस्थानों के बाहर हो रही है असली पत्रकारिता: अभिषेक श्रीवास्तव

अभिषेक श्रीवास्तव छह साल से स्वतंत्र पत्रकार हैं. इससे पहले इन्होंने नवभारत टाइम्स, इकोनॉमिक टाइम्स, दैनिक भास्कर से लेकर बीबीसी हिन्दी तक में काम किया है. acadman.in को...

उस समय IIMC में सिफारिशों का दौर था, जो आज भी जारी है: नितिन...

नितिन पिछले छः सालों से मीडिया के अलग-अलग क्षेत्रों में काम कर रहे हैं. इसमें खासतौर पर वेबसाइट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया शामिल है. वर्तमान...