भारत की पत्रकारिता में पॉजिटिव चीजें हो रही, लेकिन अमेरिका की तरह नहीं है माहौल- राजेश जोशी

भारतीय पत्रकारिता सिर्फ स्टार पत्रकारों की पत्रकारिता नहीं है. टीवी पर प्राइम टाइम लेकर बड़ी बहस कर रहे पत्रकार ही पत्रकारिता नहीं कर रहे. उनके शोरगुल से कुछ कदमों की दूरी पर भी कई ऐसे लोग हैं जो भारतीय पत्रकारिता की मजबूर रीढ हैं. उनकी पत्रकारिता बेहद सशक्त है. पावरफुल. ऐसे ही एक शख्स का … Continue reading भारत की पत्रकारिता में पॉजिटिव चीजें हो रही, लेकिन अमेरिका की तरह नहीं है माहौल- राजेश जोशी